Consult me now :
+91 9650834736, 9650834756

Mantra Sadhna & Pooja

Mantras are considered to be divine rhymes composed by the ancient Vedic Rishis/saints in the divine language of Sanskrit.

Mantras are energy-based sounds.They are primarily used as spiritual conduits, words or vibrations that instill one-pointed concentration in the devotee.Other purposes have included religious ceremonies to accumulate wealth, avoid danger, or eliminate enemies etc. 

Mantra is a combination of magical/mystical words and sound waves.Mantra is recited to relax mind & to fulfill the desired work.

Mantra is an invocation or a mystical formula, which aids the person to release the self and attain bliss and ultimate fulfillment. The sounds involved in a Mantra are themselves significant for they generate in the individual an unusual mystic power. Mantra produces a set of vibration in the surrounding atmosphere & its force depends on the attitude of the person as well as the intensity of concentration.

Mantras are performed through faith, the results of which cannot be analyzed measured, weighed, seen but are felt. The force of Mantra can be only felt. It should be performed with due faith and all rituals, then it is fruitfull. You must have complete faith in Mantra you are reciting and must know its meaning. Do the things as per prescribed methods. You will experience sensation and vibrations during or at the end of Japa, this is a sufficient proof to believe. Mantra requires faith, Japa, hard work and per laid dictums to realize the desired objects and vibrations. Each Mantra has a different use, The vibrations of sound create desired reactions within the body too.

Mantra is an invocation or a mystical formula, which aids the person to release the self and attain bliss and ultimate fulfillment. The sounds involved in a Mantra are themselves significant for they generate in the individual an unusual mystic power. Mantra produces a set of vibration in the surrounding atmosphere & its force depends on the attitude of the person as well as the intensity of concentration.

Recitation of Mantras with a prescribed number of times at different timings to give desired results. There are three ways to perform Mantra :

UPANSU JAPA: 

It is the method where Japa is done very slowly so that nobody can hear it. Only lip movement should be there.

MANSIK JAPA: 

The Japa carried out only in the heart without any sound or lip movements.

VACHIK JAPA: 

In this method you can recite the mantra in a low, medium or high tone of your sound.

Some Effective Poojas & Mantra Sadhna

  • Birthday Pooja

जन्मदिन पूजा – जन्मदिन पूजा में नवग्रहों के साथ ही सप्त चिरंजीवियों की पूजा का भी विधान है l इस पूजा के द्वारा व्यक्ति के भावी भविष्य के लिए मंगलकामनाएं और दीर्घायु हेतु मन्त्र पाठ,पूजा और दान करवाया जाता है l

  1. Naamkarana Sanskara Pooja

नामकरण संस्कार पूजा – अगर आपके घर में किसी बच्चे का जन्म होता है और आप उसका नामकरण संस्कार उसकी जन्म कुंडली के नक्षत्र के अनुसार करते हैं तो उसके द्वारा किए गए पूजा,विवाह,गृहप्रवेश,यज्ञ का पूर्ण फल प्राप्त होकर उसे समृद्धि अवश्य प्राप्त होती है l

  1. Nine Planets Pooja & Yagya

नवग्रह पूजा एवं यज्ञ  – नवग्रहों की शांति हेतु यह पूजा की जाती है, इस पूजा से समस्त ग्रहदोष दूर हो जाते हैं और जीवन में सकारात्मक रूप से उन्नति होती है l जन्मकुंडली में जिन ग्रहों का ज्यादा नकारात्मक प्रभाव हो उन ग्रहों को पूजा और मन्त्र जप के द्वारा शान्त किया जाता है l

  1. Gandmool Nakshatra Shanti Pooja & Mantra Sadhna

गंडमूल नक्षत्र शान्ति पूजा एवं मन्त्र साधना  – यदि आप या आपकी सन्तान गंडमूल नक्षत्र में पैदा हुई है तो गंडमूल नक्षत्र शान्ति,पूजा पाठ और मन्त्र जप अवश्य करवाना चाहिए l अन्यथा दुर्घटना,चोट-चपेट,अधिक परिश्रम के बावजूद कम फल की प्राप्ति, अल्पायु, स्वास्थ्य पर कुप्रभाव आदि समस्याएं परेशानियों का कारण बनती हैं l

  1. Kaalsarpa Dosha Shanti & Mantra Sadhna

कालसर्प दोष शान्ति एवं मन्त्र साधना – यदि आपका स्वास्थ्य खराब रहता है और आप बहुत मेहनत करते हैं उसके अनुसार फल नहीं मिल पाते l हर काम देरी से होता है और बार-बार रुकावटें देखने को मिलती हैं l तो आपको अपनी जिन्दगी में कालसर्प दोष शान्ति अवश्य करवानी चाहिए l

  1. Pitri Dosha Shanti & Mantra Sadhna

पितृदोष शान्ति एवं मन्त्र साधना – प्रायश: पिछले जन्मों के पाप कर्मों के फल के कारण ही पितृदोष होता है l पितृदोष के कारण स्वास्थ्य खराब रहना,शादी न होना,शादी होकर टूट जाना,बच्चे न होना या होकर मर जाना,नौकरी या व्यवसाय में समस्या होना पितृदोष का कारण होता है l अत: पितृदोष शान्ति पूजा करवाने से लाभ होता है l

  1. Griha Pravesh  Shanti / Vastu Shanti or Mantra Sadhna

गृहप्रवेश शान्ति या वास्तु शान्ति एवं मन्त्र साधना – यदि आप नई जमीन या नया घर खरीदते हैं तो आपको नए घर में प्रवेश करने से पहले गृहप्रवेश पूजा एवं वास्तु शान्ति अवश्य करवानी चाहिए l ऐसा करने से घर में सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है जिसके परिणामस्वरूप स्वास्थ्य,सुख–समृद्धि,विद्या का लाभ, लम्बी आयु और परेशानियों से बचाव होता है l

  1. Santan Gopal Pooja & Mantra Sadhna

सन्तान गोपाल पूजा एवं मन्त्र साधना – शादी के बाद जिन दम्पत्तियों के बच्चे नहीं हो पाते या होकर मर जाते हैं अथवा गर्भ में बच्चे का पूर्ण विकास नहीं हो पाता और गर्भपात हो जाता है ऐसे दम्पत्तियों को सन्तान गोपाल पुत्रेष्ठी यज्ञ अवश्य करवाना चाहिए l

  1. Widow Yoga Shanti Or Kumbha Vivaha

विधवा या विधुर योग शान्ति अथवा कुम्भ विवाह – अगर आपकी कुण्डली में विधवा या विधुर योग है जिसके कारण पति को पत्नी का सुख और पत्नी को पति का सुख नहीं मिल पाता तो इस योग से सम्बन्धित पूजा या कुम्भ विवाह करवाने के बाद ही विवाह करना चाहिए l इससे विधवा या विधुर  दोष शान्त होता है l

      10.  Manglik Dosha Pooja & Mantra Sadhna

      मांगलिक दोष निवारण पूजा एवं मन्त्र साधना – यदि कुंडली में मांगलिक दोष है तो सबसे पहले तो विवाह में देरी होना स्वाभाविक होता है इसके साथ ही वैवाहिक जीवन में भी अनेक प्रकार की समस्याएँ देखने को मिलती हैं, जिसके कारण कलह-क्लेश की सम्भावना अधिक रहती है और दाम्पत्य जीवन में परेशानियाँ देखने को मिलती हैं l इस पूजा से मंगल दोष शान्त होता है और वैवाहिक जीवन सुखमय होता है l

 

  1. Karja ( Loan) Pooja & Mantra Sadhna

 कर्जा अथवा ऋणमुक्ति पूजा एवं मन्त्र साधना – यदि आप हमेशा कर्जे में डूबे रहते हैं,पैसा नहीं रुकता और आपकी कुंडली में दरिद्र योग के कारण उतार-चढ़ाव और परेशानी बनी हुई है तो कर्जा मुक्ति यज्ञ अवश्य करवाएं l इस यज्ञ को करवाने से पिछले जन्म के दोष कट जाते हैं और सुख-समृद्धि एवं धन की वृद्धि होती है l

  1. Chandal or Grehan Yoga Shanti Pooja & Mantra Sadhna

चाण्डाल योग एवं ग्रहण योग शान्ति पूजा एवं मन्त्र साधना – यदि आपकी कुंडली में गुरु,राहू या चन्द्र राहू योग बना हुआ है तो आपको इसकी शान्ति अवश्य करवानी चाहिए l क्योंकि इन योगों के कारण मानसिक और शारीरिक परेशानियाँ बराबर बनी रहती हैं l इस पूजा से पूर्वजन्म के दोष कट जाते हैं l

13.Shani Sadhesati or Dhaiyaa Pooja & Mantra Sadhna

       शनि साढ़ेसाती या ढैय्या शान्ति पूजा एवं मन्त्र साधना  – यदि आप शनि      की साढ़ेसाती या ढैय्या के कारण स्वास्थ्य,सन्तान,व्यवसाय,वैवाहिक जीवन,नौकरी या पढाई में समस्याएँ देख रहे हैं तो इस पूजा को अवश्य करवाएं l अत्यधिक लाभ और उन्नति होगी l

  1. Baglamukhi Pooja & Mantra Sadhna

    बगलामुखी पूजा एवं मन्त्र साधना - यदि आप नकारात्मक ऊर्जा से प्रभावित हैं और शत्रु आपको बराबर परेशान कर रहे हैं या आप पर तान्त्रिक क्रिया हुई है अथवा आप विरोधी पक्ष को कमजोर करना चाहते हैं या मुकद्दमे में जीतना चाहते हैं तो इस तरह की समस्या निवारण हेतु बगलामुखी यज्ञ किया जाता है l

  1. Lakshmi & Kuber Mantra Sadhna

लक्ष्मी एवं कुबेर मन्त्र साधना – यदि आपके जीवन में धन की समस्या रहती है और यदि आप अपने जीवन में खूब पैसा कमाना चाहते हैं और अपने आप को धनाधीश देखना चाहते हैं तो आपको लक्ष्मी और कुबेर यज्ञ साधना अवश्य करवानी चाहिए l

  1. Mahamrityunjay Mantra Sadhna & Rudrabhisheka

महामृत्युन्जय मन्त्र साधना और रुद्राभिषेक -  अगर आपके जीवन में बराबर आपका स्वास्थ्य खराब रहता है,दुर्घटनाएं होती रहती हैं,मृत्युतुल्य कष्ट होता है और आप भयंकर बिमारियों जैसे कैंसर,टीवी,अस्थमा,एड्स,से जूझ रहे हैं तो आपको महामृत्युन्जय यज्ञ और रुद्राभिषेक अवश्य करवाना चाहिए l इस यज्ञ को करवाने से बहुत अधिक प्रभावशाली लाभ होता है l

 

  1. Saraswati Pooja & Mantra Sadhna

सरस्वती पूजा एवं मन्त्र साधना– यदि आपका बच्चा पढाई में कमजोर है तो बालकों की पढाई और विद्या में उत्तरोतर उन्नति और उच्च शिक्षा की प्राप्ति हेतु यह सरस्वती अनुष्ठान किया जाता है l इस पूजा से बालक के जीवन में विद्या का लाभ होता है l

  1. Durga Pooja & Mantra Sadhna

दुर्गा पूजा एवं मन्त्र साधना – जीवन में प्रभावशाली शक्ति और ऊर्जा प्राप्त करने के लिए चण्डी पूजा, दुर्गा सप्तशती का पाठ एवं नवार्ण मन्त्र जप किया जाता है l इससे चमत्कारी परिणाम देखने को मिलते हैं l

  1. Kalasha Sthapana or Murti Sthapana

कलश स्थापना या मूर्ति स्थापना – यदि आप किसी विशेष कार्य की सिद्धि के लिए नवरात्रों में कलश स्थापना करवाना चाहते हैं या नए मन्दिर में मूर्ति स्थापित करना चाहते हैं तो ऐसा करवाना आपके लिए सुख-समृद्धि और उन्नतिदायक होगा l

  1. Katyayani Pooja & Mantra Sadhna For Love Marriage

कात्यायनी पूजा एवं मन्त्र साधना (प्रेम विवाह) यह पूजा और मन्त्र साधना रुक्मणी ने भगवान श्री कृष्ण को पति रूप में पाने के लिए की थी l अत: जो नव युवतियाँ मन के अनुकूल पति प्राप्त करना चाहती हैं या प्रेम विवाह करना चाहती हैं , उनको इस कात्यायनी पूजा और मन्त्र साधना को करना और करवाना लाभकारी होता है l

  1. Shiva-Gauri Pooja & Mantra Sadhna

शिव-गौरि पूजा एवं मन्त्र साधना – जिनका विवाह नहीं हो पाता और विवाह में देरी होती है या जिन दम्पत्तियों में आपस में कलह क्लेश रहता है,उनको शिव-गौरि के जोड़े की पूजा और मन्त्र साधना अवश्य करनी चाहिए l यह पूजा और मन्त्र साधना शीघ्र विवाह और उत्तम जीवन साथी की प्राप्ति के लिए लाभकारी होती है l

  1. मनपसन्द पत्नी प्राप्ति हेतु पूजा एवं मन्त्र साधना –

यह पूजा और मन्त्र साधना दुर्गा पूजा के अंतर्गत आती है यह मन्त्र साधना मन के अनुकूल पत्नी प्राप्ति के लिए लाभकारी होती है l

  1. वाहन,फैक्ट्री,माल,भूत-प्रेत बाधा निवारण पूजा एवं मन्त्र साधना
  2. विवाह पूजा एवं फेरे

 

नोट :- मन्त्र शब्द का मूल अर्थ है गुप्त परामर्श l मननात् त्रायेत् यस्मात्तस्मान्मन्त्र: प्रकीर्तितः अर्थात् जिन विचारों से हमारे विचार शुद्ध हों उसे मन्त्र कहते हैं l मन से जप वर्णोंच्चारण का घर्षण होता है तब एक दिव्य तेज प्रकट होता है इसी ऊर्जा से सफलता प्राप्त होती है l मन्त्रविदों के अनुसार जपात्सिद्धिर्जपात्सिद्धि: अर्थात् निरन्तर जप करने से ही मन्त्र सिद्ध होत है और निश्चय ही सफलता मिलती है l परन्तु पूर्ण श्रद्धा,विश्वास,भावना और विद्वान् ज्योतिषी गुरु का मार्गदर्शन अति आवश्यक होता है l किसी भी अनुष्ठान के पूर्ण फल की प्राप्ति के लिए अच्छे संस्कृत विद्वान् और ज्योतिषी के मार्गदर्शन में अनुष्ठान होना अतीव आवश्यक है अत: प्रत्येक अनुष्ठान मन्त्र साधना ज्योतिष फाउंडेशन के निर्देशक ज्योतिषाचार्य डॉ.नवीन शर्मा के मार्गनिर्देशन में ही किया जाता है l उपरोक्त पूजा एवं मन्त्र साधनाओं के अलावा भी कुछ गोपनीय एवं स्पेशल पूजा और मन्त्र साधनाओं की भी पूर्ण व्यवस्था रहती है l प्रत्येक पूजा का सही फल आचार्य और यजमान के सकारात्मक मानसिक स्तर पर निर्भर करता है l अत: पूर्ण मनोयोग से ही पूजा और मन्त्र साधना करवाने से लाभ प्राप्त होता है l

We Provide Many Online & Personal Mantra Sadhna & Poojas According to BirthChart’s & Situations.

contact : astronaveen1983@gmail.com