Astro Sadhna | Astrologer Naveen Sharma | Mantra Sadhna Jyotish Foundation

World's Best on Phone and Online Consultation

Consult Now : +91 9650834736, 9650834756

ज्योतिष : परिचय, उपयोगिता एवं लाभ

ज्योतिष के बारे में जब भी हम सुनते हैं तो मन में अनेक प्रकार के प्रश्न उत्पन्न होते हैं कि ज्योतिष क्या है? इसकी उत्त्पति कहाँ से हुई ? ज्योतिषीय गणनाओं का मूल आधार क्या है ? ज्योतिष कैसे और किस –किस क्षेत्र में मानव मात्र के लिए लाभकारी हो सकता है ? इन सभी प्रश्नों का उत्तर प्रत्येक व्यक्ति तक पहुँचाने के लिए और ज्योतिष सम्बन्धी संशयों को दूर करने के लिए सिल्वर लाइनिंग टीम दिल्ली ने शिक्षाविद् और प्रसिद्ध ज्योतिषाचार्य डॉ.नवीन शर्मा से बातचीत की| प्रस्तुत हैं बातचीत के प्रमुख अंश :-

1. ज्योतिष क्या है ?
सृष्टि के आरम्भ से ही वेद हमारे ज्ञान के मूल हैं जो विज्ञान से परिपूर्ण हैं| वेदों का ही एक अंग ज्योतिष है,यह प्राणी मात्र के जीवन का नेत्र माना जाता है| वेदकाल से ही ज्योतिष की उत्पत्ति हुई है| इसे वैदिक ज्योतिष के नाम से भी जाना जाता है, अत: कहा जा सकता है कि ज्योतिष एक ऐसा शास्त्र या विज्ञान है जो जन्मकालिक ग्रह और नक्षत्रों की स्थिति के अनुसार आकाश मंडल में विचरने वाले ग्रहों जैसे सूर्य, चन्द्र, मंगल, बुध, गुरु, शुक्र, शनि, राहू और केतु के साथ 12 राशियों और नक्षत्रों का गणितीय अध्ययन करता है और इन्हीं आकाशीय तत्वों से पृथ्वी और पृथ्वी पर रहने वाले लोग किस प्रकार प्रभावित होते हैं, उनका विश्लेषण भी गणितीय विधि से करता है,इसका मूल आधार गणित है| आर्यभट्ट, भास्कराचार्य और वराहमिहिर प्रारम्भिक ज्योतिषी हुए हैं|

2. ज्योतिष किस प्रकार से मानव मात्र के लिए लाभकारी हो सकता है ?
वैदिक ज्योतिष द्वारा अपना भविष्य जानने के लिए आपको अपना जन्म दिनांक-मास-वर्ष,जन्म समय और जन्म स्थान का सटीक ज्ञान होना परमावश्यक है| जितना सटीक आपका डाटा होगा,उतना ही सटीक आप अपने भविष्य के बारे में अपने प्रत्येक प्रश्न का उत्तर जान पाएंगे|

ज्योतिष के माध्यम से समय से पहले यदि आपको अपने वर्तमान और भविष्य के बारे में में पूर्वानुमान लग जाता है तो आप अपने कार्य क्षेत्र में परिस्थितियों के अनुसार उन्नति पाते हैं| यदि ज्योतिष के अनुसार वर्तमान या भविष्य की स्थितियां आपको नकारात्मक लग रही हैं तो आप आध्यात्मिक शक्ति,ध्यान और मन्त्र साधना आदि उपायों के द्वारा परिस्थितियों को अपने अनुकूल बनाने का प्रयास कर सकते हैं| यदि ज्योतिष के द्वारा आपको आपका भविष्य उज्जवल बताया जा रहा है तो आप समय से पहले उस उत्तम और सकारात्मक समय का लाभ उठाने के लिए पूर्ण रूप से क्रियाशील होकर फल में खूब वृद्धि कर सकते हैं|

3. क्या ज्योतिषीय उपायों से नकारात्मक समय को बदला जा सकता है ?
समाज में एक कहावत प्रचलित है कि होनी को कभी टाला नहीं जा सकता और जो जिसके भाग्य में लिखा है वह होकर रहेगा और जो भाग्य में नहीं है वह आकर भी चला जाएगा परन्तु इससे भी बड़ा सत्य यह है कि ईश्वरीय सत्ता और ज्योतिषीय उपाय हर असम्भव काम को सम्भव बना सकते हैं| इस दुनिया में प्रत्येक वस्तु, ज्ञान और मन्त्र शक्ति का भी अपना प्रभाव और महत्व है, बिना महत्व के कुछ भी नहीं है, इसलिए जितने भी ज्योतिषीय उपाय हैं उनका अपना प्रभावपूर्ण महत्व है वे उपाय प्रत्येक मनुष्य को लाभ प्रदान करते हैं|

भाग्य में लिखा है बीमार पड़ना और हम बीमार भी पड़ते हैं परन्तु हम सही होने के लिए औषधि (दवाई) का सेवन भी करते हैं और हमें दवाई के सेवन से लाभ भी होता है और हम ठीक भी हो जाते हैं परन्तु हम शारीरिक रूप से ठीक होते हैं| मानसिक रूप से हम रोगी ही रहते हैं, हम मानसिक रूप से भी पूर्ण रूप से स्वस्थ हों इसके लिए आध्यात्मिक शक्ति,ध्यान और मन्त्र साधना आदि ज्योतिषीय उपायों का सहारा लिया जाता है| मानसिक रूप से यदि व्यक्ति स्वस्थ है तभी वह पूर्णत: शारीरिक रूप से स्वस्थ हो सकता है|

4. ज्योतिष के क्षेत्र में समाज में कई तरह के पाखण्डी बैठे हैं इसलिए ऐसी परिस्थिति में विश्वास कैसे करें और सटीक भविष्य जानने के लिए किसके पास जाएँ ?
जब हम बीमार होते हैं तो डाक्टर के पास जाने से पहले हमें ये जरूर पता होना चाहिए कि डाक्टर किस स्तर का है ? डाक्टर की शिक्षा क्या है ? यदि हम स्पेशलिस्ट के पास अपना चेक अप करवाते हैं तो हमें सही समय पर सही मार्गदर्शन के द्वारा सही दवाई दी जाती है, ठीक उसी प्रकार ज्योतिष के क्षेत्र में भी भविष्य जानने से पहले हमें एस्ट्रोलाजर की शैक्षिक प्रोफाइल पता होनी चाहिए| उच्च शिक्षा प्राप्त अनुभवी ज्योतिषी हमारा अच्छा मार्गदर्शन और सटीक भविष्यवाणी कर सकता है| अत: अपनी विवेक बुद्धि से हमें उत्तम मार्गदर्शन हेतु अपने एस्ट्रोलाजर का चयन करना चाहिए| हमें दिखावा करने वाले धूर्त और पाखण्डी लोगों से बचना चाहिए| ज्योतिष के द्वारा गणितीय विधि के द्वारा पहले ही बता दिया जाता है कि कब,किस तिथि को ग्रहण होगा ? कब आकाश में उल्कापात होगा ? पुच्छल तारा कब निकलेगा ? आदि अनेक उदाहरण हैं जिनके द्वारा ज्योतिष पर विश्वास करना सहज है|

5. ज्योतिष के द्वारा क्या-क्या जाना जा सकता है ?
ज्योतिष के द्वारा भूत, भविष्य,वर्तमान के बारे में पूर्वानुमान लगाया जाता है| जीवन में कब-कब हमारा स्वास्थ्य कैसा रहेगा ? इनकम कैसी रहेगी ? हमारा प्रभाव और नाम कैसा रह पायेगा ? जीवन में माता-पिता-स्त्री का सुख कैसा रहेगा ? विद्या और संतान कैसी होगी ? मित्र और शत्रु कहाँ तक हमें सहयोग और नुकसान पहुंचा सकते हैं ? भाग्य कितना साथ देगा ? जॉब या कैरियर कैसा रहेगा और उसमें कितनी उन्नति हो पाएगी ? बैंक बैलेंस कैसा रहेगा ? लव मैरिज होगी या अरेंज ? बिजनेस में इन्वेस्टमेंट करें या नहीं ?

ऐसे आपके जीवन से जुड़े हर सवाल का जवाब आप समय से पहले ज्योतिष विद्या के द्वारा ही पा सकते हैं और उन्नति में अद्भुत प्रगति कर सकते हैं| आज के समय में फिल्म इंडस्ट्री हो या मनिस्टरी, अध्यापक हो या बिज़नेस मैन, इंजीनियर हो या वकील सभी विवेकशील व्यक्ति एक विद्वान ज्योतिषी की गाइडेंस में रहते हुए उन्नति के मार्ग पर आगे बढ़ते हैं और हर क्षेत्र में सफलता पाते हैं| इस लेख के माध्यम से आपको ज्योतिष के परिचय के साथ ही ज्योतिष सेवाओं का लाभ उठाने हेतु दिव्य दृष्टि मिलने में सहयोग मिलेगा| जनसामान्य तक ज्योतिष परिचय और ज्योतिष भ्रान्तियों को पहुँचाने हेतु यह प्रभावशाली प्रयास किया गया है| आशा है लेख पढने वाले पाठक इससे अवश्य लाभान्वित होंगे|


Interested in our services ! Consult Now : +91 9650834736, 9650834756

Our Astrological advice can bring a willful change in your|ife

CONSULT US NOW


ADDRESS

24-C, First Floor, Yusuf Sarai, South Delhi